AC और DC में क्या अंतर [difference] है? | Difference between A.C and D.C

हेलो दोस्त,आज के टाइम में बिजली [इलेक्ट्रिसिटी] हमारे जीवन का हिशा बन चुकी है,और बिजली हमारे जीवन में कितनी महत्वपूर्ण है,और बिजली [electricity] का 24 hour कितना उपयोग करते है,हम जानते है की ac और dc क्या है पर हम इसके के बिच का अंतर नहीं जानतें तो आईये आज हम जानेगे की AC और DC में क्या अंतर [difference] है ?

AC और DC में क्या अंतर है?

A.CD.C
AC का पूरा नाम अल्टेरनेटिंग करंट और AC में Phase, Neutral आता हैDC का पूरा नाम डायरेक्ट करंट और AC में Positive, Negative आता है
ac and dc difference in hindi
Difference between AC and DC
AC अपनी डायरेक्शन समय समय पर [PERIODICALLY]बदलती रहती है DC एक ही डायरेक्शन में बहती है
AC में करंट का परिमाण [magnitude], टाइम के हिसाब से भिन्न [vary] होता है DC में करंट का परिमाण [magnitude] यातो सतत, स्थिर [constant] होता है, और एक ही दिशा [direction] बहता है
AC की आवृत्ति [frequency] 50 HZ या 60HZ होती है, और इंडिया में हम 50HZ की आवृत्ति USE करते हैDC की आवृत्ति [frequency] ZERO है
AC ज्यादातर [Mostly] sinusoidal होता है, और छोटे सिग्नल [signal] समलम्बाकार [trapezoidal], त्रिकोणीय [triangular] वर्ग [square] हो सकता है, और ये सिग्नल [signal] +[plus] और -[minus] में जाते है DC में भी सिग्नल [signal] समलम्बाकार [trapezoidal], त्रिकोणीय [triangular], वर्ग [square] होते है, और इसमें सिग्नल [signal] +[plus] यातो -[minus] में ही होते है, दूसरी दिशा [direction] में नहीं होते इसलिए इसे कभी कभी pulsating dc कहा जाता है
AC को आसानी से जनरेटर की मदद से mechanically generate कर सकते है DC को भी जनरेटर की मदद से mechanically generate कर सकते है पर उसमे लहर [Ripple] आ जाती है.
AC को DC में कन्वर्ट करने के लिए Rectifier का उपयोग करते हैDC को AC में कन्वर्ट करने के लिए Inverter का उपयोग करते है
AC पावर को हम कही ले नहीं जा सकते पर हम जनरेटर और फ्यूल की मदद से उसे कहा भी ले जा के generate कर सजते हैDC पावर को हम कही भी ले जा सकते है जैसेकि बैटरी, मोबाइल, टीवी, कंप्यूटर, रेडियो, मीटर्स
आज के टाइम में हमारे पास जो इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई आता है, वो AC में आता हैपहले के टाइम की बात करे तो हमारे पास जो इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई आता था, वो DC में आता था
AC में शोर्ट सर्किट या फिर कोई फॉल्ट आ जाये तो आसानी से बच सकते है, क्युकी जीरो वोल्ट और जीरो करंट आता हैDC में शोर्ट सर्किट या फिर कोई भी फॉल्ट आ जाये तो बच नहीं सकते है, और आसान भी नहीं है, इसी लिए DC MCB मेहेंगी आती है
AC को हम संग्रह [Store] नहीं कर सकते पर दूसरी जगह उपयोग में ले सकते है DC को हम आसानी से संग्रह [Store] कर सकते है जैसे की बैटरी
AC में वोल्टेज को ट्रांसफार्मर की मदद से आसानी बदल सकते है, कम ज्यादा भी कर सकते है DC में वोल्टेज को बदल ना आसान नहीं है, इसके लिए जटिल [Complex] सर्किट की जरुरत पड़ेगी
AC industries और घरेलू [Domestic] दोनों जगह उपयोग होता है, और लोड [Load] की बात करे तो ये motor, lights, etc DC Low पावर/वोल्टेज इलेक्ट्रॉनिक्स devices में उपयोग करते है

Frequently Asked Questions

बैटरी में कौन सा करंट होता है?

बैटरी में DC current होता है

DC का पूरा नाम क्या है?

DC का पूरा नाम Direct current है

AC का पूरा नाम क्या है?

AC का पूरा नाम Alternating Current

क्या DC को AC में परिवर्तित या convert कर सकते है ?

जी हां DC को AC में कन्वर्ट किया जा सकता है और ये Inverter से किया जा सकता है

Conclusion

तो Freinds उम्मीद है, की अलटरनॅटिंग करंट और डायरेक्ट करंट में क्या अंतर [difference] है ? ये आपको पता चल गया होगा और आपके सवालों का जवाब मिल गया होगा,अगर आपको अभी भी कोई सवाल है तो आप कमेंट कर के जर्रूर बताये और इलेक्ट्रिकल ke Related आपको कोई भी Question हो तो कमेंट[comment] करके जरूर बताये.और ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने FRIENDS को जरूर शेयर करे.

Electricalsoch से जुड़ने के लिए आपको दिल से Thank You

Leave a Comment

Copy link
Powered by Social Snap