इलेक्ट्रिक मोटर के प्रकार और इलेक्ट्रिकल मोटर का वर्गीकरण ?

हेलो फ्रेंड्स ,इलेक्ट्रिक मोटर के बारे में सब जानते है और आज के टाइम के सभी मशीनों में छोटी बड़ी मोटर लगी रहती है, 21 सेंचुरी की बात करें तो मोटर का उपयोग बहोत ही बढ़ रहा है ,इसी लिए सब जगह सब मशीन में इलेक्ट्रिक मोटर का उपयोग करते है तो आज हम इलेक्ट्रिक मोटर के प्रकार को जानेंगे क्यों की किस प्रकार के मशीन में किस प्रकार की मोटर लगती है वो हमें नहीं मालूम तो आईये जानते है, इलेक्ट्रिक मोटर के प्रकार और इलेक्ट्रिकल मोटर का वर्गीकरण ?

इलेक्ट्रिक मोटर के बारे में किसी को पूछेंगे तो वो सिर्फ AC और DC मोटर के बारे में ही बतायेंगे पर क्या आपको पता है दरअसल इलेक्ट्रिक मोटर के तीन प्रकार है,इलेक्ट्रिक मोटर को तीन भागो में विभाजित किया हुआ है,क्यों चौक गए ना ? तो दोस्तों आइये जानते है.

Contents

मोटर को किन तीन भागो में विभाजित किया है ? [The motor is divided into three parts]

1] अल्टेरनेटिंग मोटर [ A.C MOTOR ]

2] डायरेक्ट करंट मोटर [D.C MOTOR ]

3] स्पेशल मोटर [ SPECIAL MOTOR ]

इलेक्ट्रिक मोटर के प्रकार [Types of electric motor?]

ac motor types
A.C motor types

[1] अल्टेरनेटिंग मोटर [ A.C MOTOR ]

आज के टाइम में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाली AC मोटर है ,कोई भी इंडस्ट्रीज के ज्यादातर मशीन में AC मोटर का ही उपयोग होता है

अल्टेरनेटिंग मोटर के दो प्रकार है ? [Types of Alternating Motor?]

A] सिंक्रोनस मोटर [ synchronous motor]

B] असिंक्रोनस मोटर [ asynchronous motor] or [Induction Motor]

A] सिंक्रोनस मोटर [synchronous motor]

सिन्क्रोनस मोटर प्रत्यावर्ती धारा [Alternating current ] से चलने वाली विद्युत मोटर है। इसका नाम तुल्याकालिका मोटर या सिन्क्रोनस मोटर इस कारण है,क्योंकि इसके रोटर [Rotor ] की घूर्णन गति ठीक-ठीक उतनी ही होती है जितनी स्टेटर [Stator] में निर्मित घूर्णी चुम्बकीय क्षेत्र (rotating magnetic field) की गति होती है।सिंक्रोनस मोटरों के स्टेटर में 3 फेज सप्लाई दी जाती है,सिंक्रोनस मोटर्स का उपयोग आमतौर पर उन अनुप्रयोगों में किया जाता है जिनमें एक स्थिर और सटीक गति की आवश्यकता होती है। इन कम पावर मोटर्स के विशिष्ट अनुप्रयोग पोजिशनिंग मशीन हैं।

सिंक्रोनस मोटर्स का उपयोग [Application of Synchronous Motor ]

सिंक्रोनस मोटर्स का उपयोग बॉल मिल, वॉच, रिकॉर्ड प्लेयर और टर्नटेबल्स में भी किया जाता है,रोबोट एक्ट्यूएटर्स में भी किया जाता है।

B] असिंक्रोनस मोटर [asynchronous motor] or [Induction motor]

प्रेरणी मोटर [असिंक्रोनस मोटर] or [इण्डक्शन मोटर] प्रत्यावर्ती धारा [Alternating current ] से चलने वाली मोटर है, जिसके रोटर [rotor] की कोणीय चाल [angular speed ] स्टेटर वाइण्डिंग [Stator winding] द्वारा पैदा किये गये घूर्णी चुम्बकीय क्षेत्र [Rotational magnetic field] की कोणीय चाल से कम होती है। इसी कारण इस मोटर को ‘अतुल्यकालिक मोटर’ [ asynchronous motor] OR [ Induction Motor ] कहा जाता है|

Types of asynchronous motor OR Induction Motor * इण्डक्शनमोटर or असिंक्रोनसमोटर] केप्रकार

 [1] स्क्विर्रेल केज इंडक्शन मोटर (squirrel cage induction motor)

[2] स्लिप रिंग इंडक्शन मोटर (slip ring induction motor)

इंडक्शन मोटर के प्रकार [Types of Induction Motor ]

[a] single phase induction motor

[b] three phase induction motor

इण्डक्शन मोटर के उपयोग? [Application of induction motor?]

दुनिया में इंडक्शन मोटर्स सबसे आम इलेक्ट्रिक मोटर्स हैं। ये सरल,विश्वसनीय और किफायती मोटर्स हैं। रेफ्रिजरेटर,वॉशिंग मशीन और भट्टियों[furnaces],साथ ही कन्वेयर, पंप, वाइन्डर,पवन सुरंगों और अन्य औद्योगिक उपकरणों में पाए जाते हैं।

[2] डायरेक्ट करंट मोटर [D.C MOTOR ]

DC Motor types

डीसी मोटर (DC Motor) क्या है ? [ What is DC Motor?]

DC मोटर एक ऐसी मोटर है, जो ऊर्जा रूपांतरण के सिद्धांत पर काम करता है, अर्थात विद्युत ऊर्जा से यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित करता है। इसलिए इसका नाम डायरेक्ट करंट (DCमोटर है

डीसी मोटर के प्रकार क्या है ? [Types of DC Motor?]

[A] Shunt motor

[B] Series motor

[C] compound motor

[D] Permanent magnet motor

[A] Shunt motor [डीसी शंट मोटर]:

डीसी शंट मोटर जो कि लगभग समान गति से चलने वाला यंत्र होता है।डीसी शंट मोटर में फील्ड वाइंडिंग को मोटर के आर्मेचर के समांतर में जोड़ा जाता है। अतः इस मोटर में सीरीज मोटर की भांति इसकी फील्ड वाइंडिंग में उतनी धारा नहीं बहती है जितना कि सीरीज मोटर के आर्मेचर में। इसी लिए इस मोटर को शंट मोटर कहा जाता है |

[B] Series motor [सीरीज़ मोटर]:

डीसी सीरीज़ मोटर एक ऐसी मशीन है,जिसका उपयोग ऐसी जगह पर किया जाता है,जहाँ उच्च टॉर्क ऑपरेटिंग[High operating torque]परिस्थितियों की आवश्यकता होती है। यह एक ऐसी मशीन है जिसकी घुमावदार श्रृंखला मोटर की आर्मेचर वाइंडिंग से जुड़ी होती है

[C] compound motor [कंपाउंड मोटर]:

 डीसी कंपाउंड मोटर श्रृंखला [chain] और शंट मोटर दोनों का एक कंपाउंड है। यह एक श्रृंखला क्षेत्र कॉइल [coil] से बना है, जो आर्मेचर फील्ड वाइंडिंग के साथ श्रृंखला में जुड़ा हुआ है, और एक शंट फील्ड कॉइल वाइंडिंग है, जो आर्मेचर फील्ड वाइंडिंग के साथ समानांतर में जुड़ा हुआ है। दोनों फील्ड वाइंडिंग्स यानी श्रृंखला क्षेत्र वाइंडिंग और शंट फील्ड वाइंडिंग की उपस्थिति ने इस मोटर को कंपाउंड डीसी मोटर का नाम दिया।

[D] Permanent magnet motor [परमानेंट मैगनेट मोटर]:

एक DC मोटर, जिसका ध्रुव [pole] स्थायी चुंबक [permanent magnet] से बना होता है, स्थायी चुंबक DC (PMDC) मोटर के रूप में जाना जाता है। मैग्नेट रेडियल रूप से चुंबकित [Magnetized] होते हैं और बेलनाकार [cylindrical] स्टील स्टेटर की आंतरिक परिधि [inner circumference] पर लगाए जाते हैं। मोटर का स्टेटर [stator] चुंबकीय प्रवाह के लिए वापसी पथ [Return path] के रूप में कार्य करता है।

[3] स्पेशल मोटर क्या है?[what is special motor?]

विशेष मोटर्स [special motor] होयर में एक विस्तृत शब्द है। विशेष दोनों तब है जब एक मोटर हमारे मानक रेंज [standard range] का हिस्सा नहीं है, लेकिन यह तब भी है जब यह हमारे ग्राहकों में से एक पर एक अद्वितीय [unique] अनुप्रयोग [application] के लिए बनाया गया अनुकूलित [Customized] है।

स्पेशल मोटर प्रकार? [types of special motor?]

[A] Universal motor [यूनिवर्सल मोटर]

[B] Servo motor [सर्वो मोटर]

[C] Brushless motor [ब्रशलेस मोटर]

[D] Stepper motor [स्टेपर मोटर]

[A] Universal motor [यूनिवर्सल मोटर]:

यूनिवर्सल मोटर एक प्रकार की इलेक्ट्रिक मोटर होती है जो AC या DC पावर पर काम कर सकती है और अपने चुंबकीय क्षेत्र को बनाने के लिए अपने स्टेटर के रूप में एक इलेक्ट्रोमैग्नेट का उपयोग करती है। यह एक कम्यूटेड सीरीज़-घाव [series wound] मोटर है जहां स्टेटर के फील्ड कॉइल एक कम्यूटेटर के माध्यम से रोटर वाइंडिंग के साथ श्रृंखला में जुड़े हुए हैं।

[B] Servo motor [सर्वो मोटर]:

हालांकि, “सर्वोमोटर” नाम केवल सहायक कंपनियों की उपयोगिता का जश्न नहीं मनाता है। इसका अर्थ है कि विचाराधीन मोटर या ड्राइव में बंद लूप में फीडबैक है। सर्वोमोटर को ड्राइव की सेवा करने के लिए कहा जा सकता है, जो इसका मास्टर है – सिवाय इसके कि मोटर, ड्राइव, और नियंत्रण फ़ंक्शन एक साथ सर्वो ड्राइव सिस्टम के रूप में।

[C] Brushless motor [ब्रशलेस मोटर]:

एक ब्रशलेस मोटर एक डायरेक्ट करंट (DC) इलेक्ट्रिक मोटर है जो बिना पारंपरिक ब्रश मोटर के मैकेनिकल ब्रश और कम्यूटेटर के चलती है।ब्रश रहित मोटर्स का उपयोग ट्रेंचलेस निर्माण के विभिन्न पहलुओं में किया जाता है। एक ब्रशलेस मोटर को BLDC या BL मोटर के रूप में संदर्भित किया जा सकता है।

[D] Stepper motor [स्टेपर मोटर]:

स्टेपर मोटर एक स्पंदनिंग [Pulsing] विद्युत धारा को परिवर्तित करता है, जिसे एक स्टेपर मोटर चालक द्वारा नियंत्रित किया जाता है, एक केंद्रीय शाफ्ट के चारों ओर इस गियर जैसे दांतेदार [jagged] घटक के सटीक एक-चरण आंदोलनों[movement] में। इन स्टेपर मोटर दालों में से प्रत्येक एक पूर्ण मोड़ [full turn] के एक सटीक [exact] और निश्चित वृद्धि [growth] के माध्यम से रोटर को स्थानांतरित [moved] करता है।

Classification of Electric Motor [इलेक्ट्रिक मोटर का वर्गीकरण]:

Classification of electric motor
Classification of electric motor

तो freinds उम्मीद है की इलेक्ट्रिक मोटर के प्रकार और इलेक्ट्रिक मोटर का वर्गीकरण ? ये आपको आसानी से पता चल गया होगा और आपके सवालों का जवाब मिल गया होगा,अगर आपको अभी भी कोई सवाल है तो आप कमेंट कर के जर्रूर बताये और इलेक्ट्रिकल के related  आपको कोई भी quetion हो तो जरूर कमेंट करके जरूर बताये.और ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने FRIENDS को जरूर शेयर करे.

ELECTRICALSOCH से जुड़ने के लिए आपको दिल से THANK YOU

Leave a Comment

Copy link
Powered by Social Snap