इंडक्शन मोटर का मेंटेनेंस शेड्यूल ? | Induction Motor Maintenance Schedule

हेलो दोस्तों, आप सब लोगोने ट्रांसफार्मर के मैंटेनस शेडूल के बारे में मेरे अगले आर्टिकल में पढ़ा ही होगा की कैसे ट्रांसफार्मर का मैंटेनस करते है, तो दोस्तों आज हम जानेगे की और मोटर का मैंटेनस कब करते है और इंडक्शन मोटर का मेंटेनेंस शेड्यूल क्या होता है और उसमे शेडूल वाइज कैसे करते है तो आईये जानते है मोटर की मैंटेनैंस का शेडूल ? किसी भी अन्य मशीन की तरह यदि इंडक्शन मोटर का मेंटेनेंस ठीक से नियोजित शेड्यूल के अनुसार किया जाए तो मोटर लंबे समय तक बिना किसी परेशानी के काम कर सकती है, तो आइए जानते हैं इंडक्शन मोटर का मेंटेनेंस शेड्यूल?

निरीक्षण की दर

1] दैनिक [Daily]

2] साप्ताहिक [Weekly]

3] मासिक [Monthly]

4] अर्धवार्षिक [6 Month]

5] वार्षिक [Yearly]

1] दैनिक [Daily]

 [A] किस भाग का निरीक्षण किया जाना है?

1. टर्मिनल और सेंस कनेक्शन

2. मोटर की वाइंडिंग

3. नियंत्रण उपकरण

4. तेल की अंगूठी स्नेहन

  [B] निरीक्षण विवरण

1] मोटर सिरों (Terminal) और earth कनेक्शन की जाँच करें।

2] मैन्युअल रूप से जांचें कि मोटर वाइंडिंग ज़्यादा गरम न हो।

3] स्टार्टर, स्पीड कंट्रोलर आदि की जांच करें।

4] (a) जांचें कि Oil Ring Lubrication वाली मोटर में Oil Ring काम करती है या नहीं।

(b) Bearing के तापमान को मापें।

(c) चेक एंड प्ले।

 [C] स्थिति ठीक नहीं होने पर की जाने वाली कार्रवाई

1] अगर यह ढीला लगता है तो इसे मजबूत करें।

2] अगर गर्मी ज्यादा लगती है तो लोड कम करें।

3] दोष पाए जाने पर उसे दूर करें।

4] जरूरत हो तो तेल (oil) डालें।

 2] साप्ताहिक [Weekly]

[A] किस भाग का निरीक्षण किया जाना है?

1. बेल्ट तनाव

2. वाइंडिंग की सफाई

3. स्टार्टर के संपर्क

4. Oil Ring Bearing में oil

[B] निरीक्षण विवरण

1] (a) बेल्ट तनाव की जाँच करें।

     (b) स्लीव बेयरिंग वाली मोटरों में स्टेटर और रोटर के बीच हवा के अंतर की जाँच करें।

2] ब्लोअर की मदद से वाइंडिंग पर धूल, मलबा साफ करें।

3] मोटर के स्टार्टर संपर्कों की जाँच करें जहाँ मोटर शुरू होती है और बार-बार रुकती है।

4] जांच लें कि तेल में धूल, मलबा जमा है या नहीं – यह रंग से समझा जा सकता है।

[C] स्थिति ठीक नहीं होने पर की जाने वाली कार्रवाई

1) यदि अधिक आवश्यकता हो तो कम करें।

2) अगर एयर गैप सही नहीं है तो बियरिंग की जांच करें।

3) यदि संपर्क खराब हो गया है, तो उसे बदल दें।

4) यदि आवश्यक हो तो बदलें।

3] मासिक [Monthly]

[A] किस भाग का निरीक्षण किया जाना है? :-

1. नियंत्रक [controller]

2. ऑयल सर्किट ब्रेकर

3. उच्च गति असर [high speed bearing]

4. ब्रश

[B] निरीक्षण विवरण

1. नियंत्रक की जाँच करें

2. ऑयल सर्किट ब्रेकर को साफ करें और जांच लें।

3. नम और धूल भरे वातावरण में स्थापित मोटरों की उच्च गति बियरिंग्स की जाँच करें।

4. स्लीपिंग मोटर में ब्रश होल्डर और ब्रश की जांच करें और साफ करें।

 [C] स्थिति ठीक नहीं होने पर की जाने वाली कार्रवाई

1. यदि आवश्यक हो तो मरम्मत करें।

2. असर वाले तेल [oil] को बदलें

3. यदि ब्रश खराब हो गए हों तो उन्हें बदल दें।

4] अर्धवार्षिक [6 Month]

[A] किस भाग का निरीक्षण किया जाना है?

1. घुमावदार [Winding]

2. सोना [Slipring]

3. बॉल बेयरिंग

4. तेल [oil] असर

[B] निरीक्षण विवरण

1. वाइंडिंग को साफ करें

2. स्लीपिंग टाइप मोटर में चेक करें कि स्लिप रिंग पर क्रॉस ब्रश से खरोंच तो नहीं आई है

3. बॉल और रोलर बेयरिंग में ग्रीस की जाँच करें।

4. ऑयल बियरिंग से तेल [oil] निकाल कर पेट्रोल से साफ करें।

[C] स्थिति ठीक नहीं होने पर की जाने वाली कार्रवाई

1. यदि आवश्यक हो तो Revarnishing करें

2. अगर कोई खरोंच है, तो उसे हटाने के लिए कदम उठाएं।

3. अगर यह कम लग रहा है तो इसे मिला दें और देखें कि यह ज्यादा न भर जाए।

4. चिकनाई [lubricating] वाले तेल से साफ करें और नया तेल लगाएं।

5] वार्षिक [Yearly]

[A] किस भाग का निरीक्षण किया जाना है?

1. उच्च गति असर

2. winding

3. मोटर

[B] निरीक्षण विवरण

1. उच्च गति असर [Bearing] की जाँच करें।

2. मोटर वाइंडिंग को ब्लोअर से साफ करें। सावधान रहें कि हवा के दबाव से इन्सुलेशन को नुकसान न पहुंचे।

3. अगर मोटर बहुत खराब स्थिति में काम कर रही है तो पूरी मोटर की ओवर हॉलिंग करें।

4. स्विच और फ्यूज के संपर्कों की जांच करें।

5. नम स्थान पर स्थापित मोटर के स्टार्टर तेल [oil] की जाँच करें।

6. मोटर वाइंडिंग, नियंत्रण गियर [control gear] और वाइंडिंग के चरण [phase] और पृथ्वी के बीच इन्सुलेशन प्रतिरोध को मापें और रिकॉर्ड करें।

7. स्टेटर और रोटर के बीच हवा के अंतर की जाँच करें और नोट करें।

8. ओवरलोड रिले और सर्किट ब्रेकर की जांच करें।

[C] स्थिति ठीक नहीं होने पर की जाने वाली कार्रवाई: –

1. यदि आवश्यक हो तो Bearing बदलें।

2. सॉल्वेंट से गंदी और ऑयली वाइंडिंग्स को साफ करें।

3. यदि आवश्यक हो तो स्विच और फ़्यूज़ बदलें।

4. तेल [oil] बदलें।

5. यदि यह आवश्यकता से कम पाया जाता है तो इसे बढ़ाने के उपाय करें।

6. यदि वायु अन्तराल [Air Gap] न के बराबर हो तो आवश्यक कार्यवाही करें।

7. देखें कि क्या यह ठीक से काम करता है यदि नहीं, तो इसे ठीक करें।

Conclusion

तो Friend’s उम्मीद है, की इंडक्शन मोटर का मेंटेनेंस शेड्यूल ? [Induction Motor maintenance schedule] ये आपको आसानी से पता चल गया होगा और आपके सवालों का जवाब मिल गया होगा, अगर आपको अभी भी कोई सवाल है तो आप कमेंट कर के जर्रूर बताये और इलेक्ट्रिकल के Related आपको कोई भी Question हो तो कमेंट [comment] करके जरूर बताये और ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने FRIENDS को जरूर शेयर करे.

Electrical Soch से जुड़ने के लिए आपको दिल से Thank You

1 thought on “इंडक्शन मोटर का मेंटेनेंस शेड्यूल ? | Induction Motor Maintenance Schedule”

Leave a Comment